Advertisement

अमित शाह जीवनी, रोचक तथ्य, करियर एवं विवाद

Amit Shah Wiki, Biography, Family, Career, Controversies in Hindi.

अमित शाह, वर्तमान में भारत सरकार के गृह-मंत्री और NDA (राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन) के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष हैं. इस देश के दूसरे सबसे अहम पद पर आसीन अमित शाह हमेशा ही अपने फ़ैसलों और एक-दम सटीक राजनीतिक सोच के लिए चर्चा में रहते हैं.  

अमित शाह को भारतीय राजनीति का चाणक्य कहा जाता है. इस बात को बार-बार उन्होंने अपने समर्थकों और यहाँ तक कि विरोधियों के सामने भी साबित करके दिखाया है. 2014 में जब से नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा ने सरकार बनाई है तब से ही अमित शाह का कद इस देश की राजनीति और राष्ट्र-नीति में तेजी से बढ़ा है.  

अमित शाह केंद्रीय राजनीति में सक्रिय होने से पहले लगभग 15 सालों तक गुजरात सरकार में विभिन्न पदों पर मंत्री रहे. इस बीच उन पर बहुत सारे आरोप लगे साथ ही लोगों के बीच उनकी लोकप्रियता भी तेजी से बढ़ती गई. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के साथ उनकी जोड़ी गुजरात के समय से अब तक सफलता के हर पायदान पर लगातार ऊपर बढ़ती गयी है.

2019 में गृहमंत्री बनने के बाद उन्होंने कुछ ऐसे फैसले लिए जिन्हें लेने का साहस पिछली सरकारों में से कोई नहीं कर पाया था. जम्मू-कश्मीर से धारा 370 का हटाना हो, तीन-तलाक पर क़ानून बनाना हो, अपनी राजनीतिक सोच और विचारधारा के प्रति पूरी तरह से साफ़ रहना हो या बीजेपी को देश के हर हिस्से में मज़बूत करना हो, ये कुछ ऐसे काम हैं जिन्होंने अमित शाह को आज भारतीय राजनीति का सिरमौर बना दिया है. 

एक अच्छे-खासे पैसे वाले बिजनेसमैन अनिलचंद्र शाह के घर पैदा होने वाले अमित शाह का बचपन में राजनीति से कोई लेना-देना नहीं था. अमित शाह के परिवार में भी किसी प्रकार का राजनीति माहौल नहीं था. उन्होंने बायो-केमिस्ट्री में स्नातक की डिग्री ली है और शुरुआती समय में पिता के PVC पाइप्स के बिज़नेस में भी सहयोग किया है.

इस पोस्ट में हमने उनकी जीवनी, परिवार, राजनीतिक करियर, विवादों इत्यादि के बारे में बताने का प्रयास किया है. इस पोस्ट में हम यह भी जानेंगे कि कैसे एक सामान्य बिज़नेस परिवार से नाता रखने वाला एक व्यक्ति भारतीय राजनीति के शिखर तक पहुंचा.

यह भी पढ़ें: नागरिकता संशोधन बिल (Citizenship Amendment Bill-2019) क्या है? प्रमुख विशेषताएं और विवाद

अमित शाह जीवन परिचय (Amit Shah Biography in Hindi)

पूरा नामअमित अनिलचन्द्र शाह
जन्म तारीख22 अक्टूबर, साल 1964
जन्म स्थानमुंबई, महाराष्ट्र (भारत)
पेशाभारतीय राजनीतिज्ञ
पदवर्तमान केन्द्रीय गृहमंत्री, पूर्व बीजेपी अध्यक्ष, पूर्व गुजरात गृह मंत्री.
माता का नामकुसुम बेन 
पिता का नामअनिल चन्द्र शाह
पत्नी का नामसोनल शाह
भाई-बहनएक बहिन (आरती शाह)
पुत्र-पुत्रीएक बेटा (जय शाह)
लंबाई5’6”
Amit Shah Bio Data

अमित शाह प्रारम्भिक जीवन, शिक्षा एवं परिवार

about amit shah family in hindi
अमित शाह अपनी पत्नी, बेटे और पुत्रवधू के साथ. | फोटो

अमित शाह का जन्म 22-अक्टूबर-1964 को मुंबई, महाराष्ट्र के एक हॉस्पिटल में हुआ था. अमित शाह के पिता का नाम अनिल चन्द्र शाह है और वह एक गुज़राती बिजनेसमैन हैं. उनकी माता का नाम कुसुम बेन हैं और वह एक गृहिणी हैं. अमित शाह गुजरात के मेहसाना में वैष्णव परिवार से ताल्लुक रखते है. उनका गाँव पाटण जिले के चँन्दूर मे है। अमित शाह के पिटा का PVC Pipes का बिज़नस था और उनका परिवार काफी पैसे वाला था. 

अमित शाह की प्रारंभिक स्कूली शिक्षा उनके गाँव में ही हुई उसके बाद शाह का परिवार अहमदाबाद आ गया और उसके बाद की स्कूल शिक्षा उन्होंने अहमदाबाद के ज्योति हाई सेकेंड्री स्कूल से की. शाह ने अहमदाबाद के सी.यू . साइंस कॉलेज से बायो-केमिस्ट्री में अपनी ग्रेजुएशन पूरी की. 

अमित शाह का RSS (राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ) की तरफ झुकाव बचपन ही था. उन्होंने 14 साल की उम्र में संघ की शाखा ज्वाइन कर ली थी. 

अमित शाह ने अपने पारिवारिक व्यवसाय में कुछ समय के लिए अपने पिता के सहायक के तयुर पर भी काम किया है. उसके बाद कुछ समय के लिए आपने स्टॉक ब्रोकर के रूप में भी काम किया. अमित शाह को बही-खातों और पैसे के लेन-देन से जुड़ा अनुभव इसी दौरान प्राप्त हुआ.

मैं नहीं चाहता कि तुम लोग पार्टी को जीताने के लिए काम करो या किसी को सीएम या पीएम बनाने के लिए मेहनत करो,मैं चाहता हूँ कि तुम भारत को विश्व गुरु बनाने के लिए काम करो. – अमित शाह

अमित शाह का प्रारंभिक राजनीतिक सफ़र | Amit Shah Political Career

अमित शाह ने स्वयंसेवक के रूप में आरएसएस अपने बचपन के दिनों में ही ज्वाइन कर लिया था. अहमदाबाद में अपने कॉलेज के दिनों में वह RSS के पूर्ण सदस्य बन गए.

अमित शाह की नरेन्द्र मोदी से मुलाक़ात 1982 में आरएसएस के संगठन कार्य करते हुए ही हुई थी और तब से ही उनकी दोस्ती अब तक बनी हुई है.

1982 में ही शाह RSS की स्टूडेंट इकाई ABVP (अखिल भारतीय विधार्थी परिषद) के सेक्रेटरी बन गए. इस पद पर उन्होंने 4 साल तक काम किया.

1984 में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के गठन के साथ ही अमित शाह उसके सदस्य बन गए. 1987 में शाह को भारतीय जनता युवा मोर्चा (BJYM) के नेता की ज़िम्मेदारी दी गई.

Amit shah and modi in young days
Amit Shah With Narendra Modi & Advani Ji | फोटो

आगे के कुछ सालों में अमित शाह बीजेपी के अलग-अलग प्रमुख पदों पर रहकर काम करते रहे. उन्होंने गुजरात भाजपा के राज्य सचिव और उपाध्यक्ष के रूप में अपनी सेवाएं दी.

राम जन्मभूमि आन्दोलन और एकता यात्रा के दौरान लोगों को अपने साथ जोड़ने में अमित शाह ने गुजरात में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई. जब 1991 के आम चुनावों में लालकृष्ण अडवाणी ने गुजरात के गांधीनगर से लोकसभा का चुनाव लड़ा तो शाह ने उनके कैंपेन मैनेजर की ज़िम्मेदारी सम्हाली. लालकृष्ण अडवाणी के कैम्पेन मैनेजर के तौर पर शाह 2009 तक लगातार काम करते रहे.

अमित शाह का गुजरात में राजनीतिक सफ़र

  • 1995 में जब गुजरात में बीजेपी की सरकार बनी तब अमित शाह और नरेन्द्र मोदी ने मिलकर गुजरात के ग्रामीण इलाकों से कांग्रेस के प्रभाव को कम करने का काम शुरू किया. दोनों ने मिलकर ग्रामीण क्षेत्रों में भाजपा के सदस्यों की संख्या को बहुत तेजी से बढाया था.
  • 1997 के सारखेज विधानसभा उपचुनावों में जीतकर अमित शाह पहली बार MLA बनकर सरकार का हिस्सा बने. जहां से वह लगातार 4 बार विधायक चुने गए. 
  • 2000 में अमित शाह ने अहमदाबाद डिस्ट्रिक्ट कोआपरेटिव बैंक के अध्यक्ष का कार्यभार सम्हाला और एक डूबती हुई बैंक को साल भर के अंदर ही मुनाफ़ा कमाने वाले संगठन में बदल दिया.
  • 2000 में जब केशुभाई पटेल को हटाकर नरेन्द्र मोदी को गुजरात का मुख्यमंत्री बनाया गया तब अमित शाह का कद गुजरात राजनीति में बहुत तेजी से ऊपर बढ़ा. 
  • 2002 के गुजरात विधानसभा चुनावों में बीजेपी के दोबारा पूर्ण बहुमत से चुनाव जीतने के बाद अमित शाह को मंत्रिमंडल में कई सारे महत्वपूर्ण विभागों का मंत्री बनाया गया. उस कैबिनेट में अमित शाह ने सबसे कम उम्र के गृह मंत्री के तौर पर शपथ ग्रहण की. तब से लेकर नरेन्द्र मोदी की हर गुजरात सरकार में अमित शाह प्रमुख हिस्सा बने रहे.
  • 2009 में अमित शाह को गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन का अध्यक्ष पद चुना गया. साथ में उन्होंने गुजरात के चेस एसोसिएशन के अध्यक्ष पद पर भी काम किया.

यह भी पढ़ें: NRC क्या है? NRC के लिए जरूरी डाक्यूमेंट्स और पात्रता

अमित शाह का केंद्रीय राजनीतिक करियर

Amit Shah as Home Minister
  • 2014 आम चुनावों के लिए जब नरेन्द्र मोदी को भाजपा का प्रधानमंत्री उम्मीदवार बनाया गया तो अमित शाह भी केंद्रीय राजनीति के केंद्र में आ गए और उनको तत्कालीन बीजेपी अध्यक्ष राजनाथ सिंह ने उत्तरप्रदेश का चुनाव प्रभारी बना दिया.
  • 2014 के लोकसभा चुनावों में अमित शाह ने उत्तर-प्रदेश में अपना कौशल दिखाया और 80 में से 73 सीटें जीतकर सबको अपना लोहा मानने के लिए मजबूर किया. 
  • राजनाथ सिंह के बाद अमित शाह को बीजेपी का अध्यक्ष बनाया गया और उनके अध्यक्ष रहते हुए भाजपा ने देश के हर ज्यादातर राज्यों में अपनी सरकार बनाने में सफलता प्राप्त की.
  • अमित शाह के बीजेपी अध्यक्ष रहते ही उन्होंने बीजेपी को दुनिया की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी बनाने का सफल अभियान चलाया.
  • सन 2017 में अमित शाह को गुजरात से बीजेपी का राज्यसभा सांसद चुना गया.
  • अमित शाह के अध्यक्ष रहते हुए 2019 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी ने अपने दम पर 303 सीटें प्राप्त करके मजबूत बहुमत की सरकार देश में बनाई.
  • वर्तमान में अमित शाह देश के दूसरे सर्वोच्च पद गृह-मंत्री के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे हैं. गृह मंत्री बनाने के बाद अमित शाह ने लगातार कड़े फैसले लिए हैं जिनकी वजह से उनकी लोकप्रियता दिनोंदिन बढ़ती ही जा रही है. 

अमित शाह से जुड़े प्रमुख विवाद | Amit Shah Controversies

amit shah jail jate hue
Amit Shah Arrested 2010 | Photo
  1. 2002 गुजरात हिन्दू-मुस्लिम दंगों के दौरान अमित शाह पर सबूतों को नष्ट करने और उनके साथ छेड़छाड़ का आरोप लगा था. 
  2. अमित शाह पर इशरत जहां मर्डर केस में भी आरोप लगे थे. इशरत जहां को प्रधान मंत्री की हत्या की साज़िश रचने के आरोप में एनकाउंटर में मार दिया गया था. अमित शाह पर इस केस के दौरान एक महिला की जासूसी करने का आरोप लगा था. 
  3. सन 2010 में अमित शाह को एक लोकल अपराधी सोहराबुद्दीन शेख का फ़र्ज़ी एनकाउंटर कराने का भी आरोप लगा था. इस केस में अमित शाह को जेल भी जाना पडा और अदालत के आदेश पर उनके गुजरात में दो साल तक प्रवेश करने पर भी रोक लगा दी गई थी. 2014 में अमित शाह को इस केस से क्लीन चिट दे दी गई.
  4. अभी हाल के समय में अमित शाह पर सरकार में रहते हुए उनके अपने बेटे जय शाह की कंपनी को फायदा पहुंचाने का भी आरोप लगे. हालांकि कोई भी आरोप साबित नहीं हुआ.

अमित शाह से जुड़े रोचक तथ्य | Amit Shah Facts in Hindi

  1. अमित शाह ज्योतिष विधा में बहुत विश्वास रखते हैं.
  2. शाह की माँ एक गाँधीवादी महिला थी. उनको पढने का बहुत शौक था. अपनी माँ के बदौलत ही अमित शाह के पास एक बहुत बड़ी लाइब्रेरी है जिसमें हज़ारों किताबें हैं. अमित शाह की माँ ने उनको खादी पहनने के लिए भी प्रेरित किया.
  3. अमित शाह डॉक्यूमेंटेशन में बहुत विश्वास रखते हैं. वह चाहते हैं की बीजेपी और आरएसएस के सभी बड़े नेताओं और सदस्यों से जुड़ी सभी बातें लिखित रूप में स्टोर की जाएं. शाह पार्टी कार्यकर्ताओं को भी दुनिया भर का साहित्य और राजनीतिक लेखन पढने की सलाह देते हैं.
  4. ऐसा कहा जाता है कि अमित शाह ने मोदी के प्रधान मंत्री बनने की भविष्यवाणी तब कर दी थी जब वो गुजरात के मुख्यमंत्री भी नहीं थे. अमित शाह और नरेन्द्र मोदी शुरुआती समय में अहमदाबाद रेलवे स्टेशन के पास एक रेस्टोरेंट में नाश्ता करने जाते थे. वही एक दिन नाश्ता करने के दौरान शाह ने मोदीजी से कहा था कि आप एक दिन देश के प्रधानमंत्री बनोगे.
  5. अमित शाह ज्यादातर मीडिया के साथ संवाद करना पसंद नही करते हैं. शाह लाइमलाइट में न आकर ग्राउंड स्तर पर काम करने में माहिर हैं. 
  6. अमित शाह और उनकी पत्नी दोनों ही भगवान शिव के बहुत बड़े भक्त हैं. शाह सोमनाथ मंदिर ट्रस्ट के भी सदस्य हैं. 

यह भी पढ़ें: कौन है भारतीय नागरिक? नागरिकता पाने और छोड़ने के नियम क्या हैं?


इस पोस्ट में हमने आपको अमित शाह के व्यक्तिगत और राजनीतिक जीवन से जुड़ी जानकारी (About Amit Shah Biography, Controversies, Career in Hindi) उपलब्ध कराई है. किसी भी प्रकार का सवाल अगर आपके मन में है तो आप कमेंट सेक्शन में पूछ सकते हो.

sources: AmitShah Website | Wikipedia

Advertisement
Tags

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button
Copyright Content.
Close