फ्रांस की क्रांति कब हुई थी? | france ki kranti kab hui

फ्रांस की क्रांति कब हुई थी? | France ki kranti kab hui

नमस्कार दोस्तों, यदि आप इतिहास पढ़ने के अंतर्गत रूचि रखते हैं या फिर आप इतिहास के विद्यार्थी हैं तो आपने फ्रांस की क्रांति के बारे में तो जरूर पढ़ा होगा। दोस्तों क्या आप जानते हैं कि फ्रांस की क्रांति कब हुई थी, यदि आपको इसके बारे में कोई जानकारी नहीं है तथा अब इसके बारे में जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं। तो आज के इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको इस विषय के बारे में सभी जानकारी देने वाले हैं।

इस आर्टिकल के अंतर्गत हम आपको बताने वाले हैं, फ्रांस की क्रांति कब हुई थी, इसके अलावा फ्रांस की क्रांति से जुड़ी लगभग हर एक जानकारी हम आपको इस पोस्ट के अंतर्गत देने वाले हैं। तो ऐसे में आज का यह पोस्ट आपके लिए काफी महत्वपूर्ण होने वाला है, तो इसको अंत तक जरूर पढ़िए।

फ्रांस की क्रांति कब हुई थी? | france ki kranti kab hui

दोस्तों फ्रांस की क्रांति का नाम दुनिया की सबसे प्रमुख राज्यों की सूची के अंतर्गत आता है, तथा यह उस समय हुई काफी बड़ी क्रांति थी।

दोस्तों इस बात के बारे में बहुत ही कम लोगों को पता है कि फ्रांस की क्रांति कब हुई थी तो आपकी जानकारी के लिए बता दूं कि फ्रांस की क्रांति की शुरुआत सन 1789 में हुई थी, उसके बाद यह क्रांति 1794 तक चली थी। तो हम कह सकते हैं कि यह क्रांति फुल 5 साल तक चली थी।

फ्रांस की क्रांति कब हुई थी? | france ki kranti kab hui

उस समय फ्रांस के अंतर्गत की स्थिति काफी खराब हो गई थी, वहां के राजा को प्राप्त मात्रा में धन नहीं मिल पा रहा था, वहां की फसलें नष्ट हो गई थी, इसके अलावा वहां पर भूखमरी की स्थिति पैदा हो गई थी। वहां के लोगों का मानना था कि इस सभी चीजों के पीछे सरकार का हाथ है, जिसके फलस्वरूप हां पर भयंकर भीड़ जमा हो गई थी और उन्होंने क्रांति करना शुरू कर दिया था।

जिसके अंतर्गत उन्होंने सबसे पहले राजा तथा राजा की सरकार से नाराज होकर वेस्टिन किले पर धावा बोल दिया था। उसके बाद सन 1789 के अंतर्गत महाकाल राजा अपने परिवार के साथ वर्साय से पेरिस चला गया था, उसके बाद 1791 में उसने भागने की कोशिश की थी लेकिन उन्हें रोक दिया गया था। धीरे-धीरे यह विरोध जनता में काफी बढ़ने लग गया था, जनता के द्वारा काफी तोड़फोड़ तथा हिंसा भी की जाने लगी थी।

उसके बाद सितंबर 1792 को फ्रांस को गणराज्य घोषित कर दिया गया था तथा उसके राजा पर कई अलग-अलग मुकदमे डाल दिए गए थे। वहां के पूर्व राजा के प्रति जनता के अंतर्गत काफी विद्रोह था तो ऐसे में 21 जनवरी 1973 को वहां के सोलवे राजा लुई को मार दिया गया था। इसके बाद लगभग 6 हफ्तों के अंतर्गत थी 1400 लोगों को पेरिस में बांट दिया गया था।

तो इस क्रांति के फलस्वरूप फ्रांस को काफी नुकसान झेलने पड़े थे, तथा एक आम व्यक्ति को इसमें सबसे बड़ा नुकसान झेलना पड़ा था। इस क्रांति का नाम फ्रांस के अंतर्गत हुई सबसे प्रमुख क्रांतियों के अंतर्गत आता है।

फ्रांसीसी क्रांति के प्रभाव | (Effect of French Revolution)

  • स्वतंत्रता, समानता और बंधुत्व का नारा फैलाओ।
  • लोकतांत्रिक सिद्धांत का विकास: राजा के दैवीय सिद्धांत को समाप्त करके लोकप्रिय संप्रभुता के सिद्धांत की मान्यता, मानव अधिकारों की घोषणा ने व्यक्ति के महत्व को साबित किया और साबित किया कि संप्रभु शक्ति लोगों में निहित है और शासन करने का अधिकार आता है लोग।
  • सामंतवाद का अंत: सामंती विशेषाधिकारों का अंत
  • राष्ट्रवाद का प्रसार: फ्रांसीसी क्रांति ने फ्रांस और फ्रांस के बाहर भी राष्ट्रवाद की भावना को फैलाया और नेपोलियन के साम्राज्यवादी विस्तार को रोका।
  • धर्मनिरपेक्षता की भावना का प्रसार: अब धर्म व्यक्तिगत विश्वास का विषय बन गया है।
  • सैन्यवाद का विकास: नागरिकों के लिए सैन्य सेवा अनिवार्य कर दी गई।
  • अधिनायकवाद की शुरुआत।
  • समाजवाद का मार्ग प्रशस्त करना।

आज आपने क्या सीखा

आज के इस आर्टिकल से कल के माध्यम से आपने जाना की फ्रांस के अंतर्गत क्रांति कब हुई थी, हमने आपको इसके अंतर्गत इस विषय के बारे में संपूर्ण जानकारी दी है। इसके अलावा हमने आपको इस पोस्ट के अंतर्गत बताया कि फ्रांस की क्रांति कैसे हुई थी तथा उसके पीछे की पूरी कहानी हमने आपको इस पोस्ट के अंतर्गत शेयर की है।

तो दोस्तों इस आर्टिकल के माध्यम से हमने आपको फ्रांस की क्रांति से जुड़े लगभग हर एक जानकारी देने का प्रयास किया है। हमें उम्मीद है कि आपको हमारे द्वारा दी गई यह सभी जानकारियां पसंद आई है, तथा आपको आज इस पोस्ट के माध्यम से कुछ नया जानने को मिला है। यदि आपको हमारे द्वारा दी गई है सभी जानकारी पसंद आए तो इसे सोशल मीडिया के माध्यम से आगे शेयर जरूर करें तथा इस विषय के बारे में आप अपनी राय हमें कमेंट में देकर पहुंचा सकते हैं।