एक देश एक राशन कार्ड योजना, लाभ, उद्देश्य, आवेदन: One Nation One Ration Card Scheme

One Nation One Ration Card Scheme Online Apply | एक राष्ट्र एक राशन कार्ड स्कीम | एक देश एक राशन कार्ड के उद्देश्य और लाभ | One Nation Ration Card Scheme Hindi

एक देश एक राशन कार्ड योजना, केंद्र सरकार की एक बहु-प्रतीक्षित और महत्वपूर्ण योजना है. इस योजना के लागू होने पर किसी भी राज्य के राशन कार्ड धारक देश किसी भी राज्य में एक ही राशन कार्ड से अपने हिस्से का राशन सब्सिडी पर खरीद सकेंगे.

ek desh ek ration card yojana

जून 2019 में वन नेशन वन राशन कार्ड योजना की घोषणा की गई थी और राज्यों को इसके लिए तैयारी करने के लिए 1 साल का समय दिया गया था. आत्मनिर्भर भारत अभियान और आर्थिक पैकेज की घोषणा के समय वित्तमंत्री निर्मला सीतारामण ने One Nation One Ration Card Scheme के 30 अगस्त तक देश के अधिकाँश राज्यों में लागू करने और मार्च 2021 तक पूरे देश में लागू करने की बात की है.

वन नेशन वन राशन कार्ड योजना क्या है? One Nation One Ration Card Scheme in Hindi

खाद्य सुरक्षा क़ानून 2013 के अंतर्गत देश में लगभग 23 करोड़ राशन कार्ड हैं जिनकी सहयता से लगभग 80 करोड़ लोगों को सरकारी राशन जैसे अनाज, चावल, चीनी, दाल, मिट्टी का तेल, आटा इत्यादि को सब्सिडी के साथ बहुत कम रेट पर सरकार की तरफ से वितरित किया जाता है.

सरकारी राशन वितरण के लिए क्षेत्र विशेष में सरकार द्वारा नियुक्त राशन डीलर जिम्मेदार होता है. इस समय काम में ली जाने वाली सार्वजनिक वितरण प्रणाली (PDS) द्वारा लोग केवल लोकल राशन डीलर से ही राशन प्राप्त कर सकते हैं.

वन नेशन वन राशन कार्ड योजना को आप राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी योजना भी कह सकते हैं. यह बिलकुल मोबाइल पोर्टेबिलिटी की तरह है. जिस प्रकार किसी भी राज्य के एक मोबाइल नंबर को हम पूरे देश में कही भी यूज़ कर सकते हैं उसी तरह एक राष्ट्र एक राशन कार्ड स्कीम के जरिए किसी भी राज्य का राशन कार्ड पूरे देश में वैध और मान्य होगा. 

एक देश एक राशन कार्ड योजना के लागू होने के बाद सभी राशन कार्ड धारक, अपने हिस्से का सरकारी राशन देश के किसी भी हिस्से में सब्सिडी के साथ खरीद सकेंगे.

वन नेशन वन राशन कार्ड योजना सामान्य परिचय: 

योजना का नामएक देश एक राशन कार्ड योजना
किसने घोषणा कीखाद्य मंत्री और वित्त मंत्री
उद्देश्यपूरे देश में राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी लागू करना 
योजना पूरा होने का लक्ष्यमार्च, 2021
लाभार्थी80 करोड़ भारतीय राशन कार्ड धारक
नोडल एजेंसीभारतीय खाद्य निगम, 

वन नेशन वन राशन कार्ड स्कीम उदाहरण | One Nation One Ration Card Scheme Example

उदाहरण के लिए मान लेते हैं कि राम प्रकाश उत्तर-प्रदेश का निवासी है और उसके पास उत्तर-प्रदेश का ही राशन कार्ड है. राम प्रकाश मजदूरी करने के लिए महाराष्ट्र में रहता है तो आज की स्थिति में वह अपने उत्तर प्रदेश के राशन कार्ड से महाराष्ट्र में राशन नहीं खरीद सकता है.

एक देश एक राशन कार्ड स्कीम के लागू होने के यह संभव होगा और राम प्रकाश अपने उत्तरप्रदेश राशन कार्ड द्वारा महाराष्ट्र में भी सरकारी राशन खरीद सकेगा.

इस योजना का सीधा लाभ गरीबों, मजदूरों और भारत के आम लोगों को मिलेगा. सरकार का मानना है कि एक देश एक कार्ड होने से राशन वितरण में होने वाले भ्रष्टाचार में कमी आएगी और लोगों को देश के किसी भी राज्य में सहजता से राशन सामग्री मिल सकेगी.

एक राष्ट्र एक राशन कार्ड योजना को तकनीकी तौर पर आधार कार्ड, राशन कार्ड और पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम के संयोजन द्वारा एक कॉमन सिस्टम बनाकर लागू किया जाएगा 

एक देश एक राशन कार्ड योजना अपडेट

one nation one ration card scheme update
  • इस योजना की शुरुआत जून 2019 में की गई थी और 30 जून 2020 तक पूरे देश में लागू करने का लक्ष्य रखा गया था. 
  • अब तक देश के 17 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में One Nation One Ration Card Scheme के तहत राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी की सुवुधा लागू कर दी गई है. यह राज्य हैं: आंध्रप्रदेश, गोवा, गुजरात, राजस्थान, मध्यप्रदेश, बिहार, उत्तरप्रदेश, हरियाणा, झारखंड, केरल, कर्नाटक, महाराष्ट्र, तेलंगना, त्रिपुरा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, दादर नगर हवेली और दमन-द्वीप.
  • 30 जून तक देश के अन्य तीन राज्य ओडिशा, नागालैंड और मिज़ोरम में भी एक देश एक राशन कार्ड योजना के पूरी तरह से लागू होने की संभावना है.
  • वित्तमंत्री के अनुसार अगस्त 2020 तक देश के लगभग 83% राशन कार्ड धारक इस योजना से जुड़ जाएंगे.
  • 30 मार्च 2021 तक पूरे देश में 100% राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी लागू करने का लक्ष्य रखा गया है.

एक देश एक राशन कार्ड योजना के उद्देश्य और लाभ 

  • प्रमुख उद्देश्य राशन कार्ड पोर्टेबिलिटी को लागू करना है, जिसकी सहायता से पूरे देश में एक ही राशन कार्ड से राशन खरीदने की व्यवस्था की जा सके.
  • PDS प्रणाली के एकीकृत प्रंबंधन से राशन की ट्रैकिंग और डिलीवरी बेहतर तरीके से हो सकेगी.
  • प्रवासी मजदूरों और अपने मूल निवास से दूर रहने वाले लोगों को राशन प्राप्त करना आसान हो जाएगा.
  • आधार कार्ड और राशन कार्ड के एक दूसरे से लिंक हो जाने से डुप्लीकेट और नकली राशन कार्ड तैयार करना बंद हो जाएगा.
  • राशन वितरण में पारदर्शिता आयेगी और भ्रष्टाचार कम हो जाएगा.
  • राशन कार्ड धारकों की अपने राशन डीलर पर निर्भरता कम होगी, जिससे राशन वितरकों के बीच भ्रष्टाचार कम हो जाएगा.

एक देश एक राशन कार्ड योजना आवेदन | One Nation One Ration Card Scheme Online Apply

एक देश एक राशन कार्ड योजना के तहत नए राशन कार्ड बनाने की आवश्यकता नहीं है. इस योजना के अंतर्गत पहले से बने हुए राशन कार्ड को ही PDS और आधार कार्ड के साथ जोड़ दिया जाएगा. 

अगर आपके पास पहले से राशन कार्ड नहीं है तो आप नए राशन कार्ड बनवाने के लिए आवेदन कर सकते हो. सभी राज्यों के राशन कार्ड बनवाने के लिए वेबसाइट की लिस्ट यहाँ चेक करिए.

भविष्य में ऐसा हो सकता है कि पूरे देश में एक जैसे राशन कार्ड बनवाए जाएं और उनके लिए आवेदन की व्यवस्था की जाए. अगर One Nation One Ration Card Scheme Online Apply से जुड़ी कोई भी जानकारी सरकार की तरफ से आती है तो हम उसे यहाँ अपडेट कर देंगे.

एक राष्ट्र एक राशन कार्ड योजना से जुड़े महत्वपूर्ण सवाल

वन नेशन वन राशन कार्ड योजना कब तक पूरे होने का लक्ष्य रखा गया है?

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण के आत्मनिर्भर भारत आर्थिक पैकेज की घोषणा करते समय बताया कि वन नेशन वन कार्ड योजना का 83% काम अगस्त 2020 तक पूरा कर लिया जाएगा और मार्च, 2021 तक इसे पूरे देश में 100% लागू कर दिया जाएगा.

वन नेशन वन राशन कार्ड योजना अब तक किन राज्यों में लागू हो गई है?

एक देश एक कार्ड योजना अब तक 17 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में लागू की जा चुकी है. उन सभी राज्यों के नाम ऊपर आर्टिकल में दिए गए हैं.

क्या वन नेशन वन राशन कार्ड योजना के लिए आवेदन/रजिस्ट्रेशन करने की जरूरत है?

नहीं, इस योजना का लाभ उठाने के लिए किसी तरह का आवेदन या रजिस्ट्रेशन कराने की जरूरत नहीं है. आपके पुराने राशन कार्ड की जानकारी को विभिन्न राज्यों के बीच साझा करके और आधार वेरिफिकेशन के जरिए एक राष्ट्र एक राशन कार्ड स्कीम काम करेगी.


अन्य योजनाएं:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.